विशाखापट्टनम में जहरीली गैस ने ली लोगों की जान, 8 मरे कई की हालत ख़राब

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक फार्मा कंपनी में गैस लीकेज का मामला सामने आया है. यह घटना गुरुवार अलसुबह करीब 2.30 बजे हुई. इसके बाद पूरे शहर में तनाव है. आरआर वेंकटपुरम में स्थित विशाखा एलजी पॉलिमर कंपनी से खतरनाक जहरीली गैस का रिसाव हुआ है. इस जहरीली गैस के कारण फैक्ट्री के तीन किलोमीटर के इलाके प्रभावित हैं. फिलहाल, पांच गांव खाली करा लिए गए. सैकड़ों लोग सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्पताल पहुंच रहे हैं. इस जहरीली गैस की वजह से कई लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि दर्जनों लोग गंभीर हालत में हैं. बताया जा रहा है कि सरकारी अस्पताल में 150-170 लोग भर्ती हैं. कई लोग निजी अस्पतालों में भी भर्ती हैं. इमरजेंसी के लिए 1500-2000 बेड की व्यवस्था कर ली गई है. विशाखापट्टनम नगर निगम के विशाखापट्टनम नगर निगम के कमिश्नर श्रीजना गुम्मल्ला ने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार पीवीसी या स्टाइरीन गैस का रिसाव हुआ है.

पीवीसी यानी पॉलीविनाइल क्लोराइड (Polyvinyl Chloride) का सबसे ज्यादा उपयोग बिल्डिंग मटेरियल बनाने में होता है. जैसे पीवीसी पाइप, खिड़कियों के फ्रेम, दरवाजे, ज्वाइंट्स, छत, टंकी आदि. क्योंकि ये सस्ता, लंबा चलने वाला और मजबूत होता है. पीवीसी को 1926 में वाल्डो सेमॉन नाम के वैज्ञानिक ने पीवीसी को प्लास्टिक रूप में लाए थे. आज के दौर में पीवीसी दुनिया का तीसरा सबसे भरोसेमंद प्लास्टिक उत्पाद है. इससे पहले पॉलीइथालीन और पॉलीप्रोपाइलीन का उपयोग होता है.