रोहतक जोन की 385 कंपनियों के 5769 कर्मियों को बिना

  • आवश्यक सेवाओं में शामिल कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की सेवाएं

हिसार. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ की सेवाओं को कोविड-19 के चलते आवश्यक सेवाओं में शामिल किया हुआ है। ऐसे में कोरोना के कारण पैदा हुए आर्थिक संकट के हालातों में कंपनियों और कर्मचारियों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत पीएफ संबंधित 2 प्रमुख लाभ मिल रहे हैं। एक तो यह कि कर्मचारी तीन माह की सैलरी जितना वेतन बतौर पीएफ खाते से निकलवा सकते हैं। दूसरा यह कि कर्मचारी के खाते से बिना पीएफ काटे कंपनी मार्च, अप्रैल व मई माह का पूरा वेतन देगी। कंपनी व कर्मचारी का पीएफ ईपीएफओ की तरफ से उनके खातों में जमा होगा। कर्मचारियों को वेतन और पीएफ में कुल 24 फीसद का डबल लाभ दिया है।
ईपीएफओ के क्षेत्रिय भविष्य निधि आयुक्त पारितोष कुमार ने बताया कि रोहतक जोन में हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, रोहतक, जींद, झज्जर और भिवानी शामिल हैं। यहां की 2399 कंपनियों के 42 हजार 296 कर्मचारियों को मार्च, अप्रैल और मई माह के बिना कटे वेतन के साथ पीएफ का लाभ मिलना है। साथ ही कंपनियों को अपनी तरफ से एम्प्लॉयर या पीएफ शेयर भी कर्मियों के खातों में नहीं जमा करवाना होगा। दोनों का पीएफ संगठन की तरफ से जमा हो रहा है। अभी तक इस सुविधा का लाभ जोन की 385 कंपनियों के 5 हजार 769 कर्मचारी उठा चुके हैं। इन्हें 97 लाख 18 हजार 967 रुपये का लाभ दिया है। तीन माह की सैलरी जितना पीएफ पाने के लिए आए 3386 दावों का निपटान करते हुए 8 करोड़ 52 लाख रुपये कर्मचारियों के खाते में डलवा चुके हैं। ऑनलाइन भी दावों का निपटान हो रहा है। दरअसल, इस योजना का लाभ उन छोटी कंपनियों या लघु उद्योगों व उनके कर्मचारियों को मिल रहा है, जहां 100 से कम कर्मचारी काम करते हैं और उनमें से 90 फीसद कर्मचारियों का वेतन 15000 से कम है। इसके साथ ही कर्मचारियों को रुपयों की जरूरत है तो कोविड-19 के तहत जरूरत बताकर अपने पीएफ खाते से तीन माह जितनी सैलरी ले सकता है।

नई सुविधा : डिजिटल साइन के साथ ई-साइन से केवाईसी और क्लेम

कोरोना पर नियंत्रण के लिए लॉकडाउन घोषित है। इसके कारण पीएफ संबंधित मैन्युअल व डिजिटल साइन से काम करवाने के लिए कंपनियों व कर्मचारियों को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ रहा था। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने उक्त मामले को गंभीरता से लेते हुए उनकी समस्या का समाधान कर दिया है। अब ऑनलाइन दावों का निपटान किया जाएगा। पीएफ खाते के केवाईसी, क्लेम या अन्य कामों के लिए डिजिटल साइन के साथ ई-साइन का प्रयोग कर सकेंगे। इसके लिए ईपीएफओ पोर्टल पर सुविधा मिलेगी। जहां पर पीएफ खाता धारी को अपना अधिकृत मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड करवाना होगा। इसके बाद उस मोबाइल नंबर पर जारी ओटीपी से उक्त कार्य आसानी से करवा सकेंगे। इस संबंध में क्षेत्रीय ईपीएफओ से संपर्क किया जा सकता है।

सभी को फोन व ई-मेल के माध्यम से सूचित किया है

हिसार, सिरसा, फतेहाबाद के प्रवर्तन अधिकारी अनुरंजन कपूर ने बताया कि योजना के दायरे वाली कंपनियों को फाेन व ई-मेल के माध्यम से समय-समय पर जानकारी दे रहे हैं ताकि कोई भी योजना का लाभ उठाने से वंचित न रहे। जिंदल स्टेनलेस कंपनी के 1153 दावों का निपटान करते हुए कर्मचारियों को 5 करोड़ 9 लाख 64 हजार 285 रुपयों का भुगतान हुआ है। डिजिटल साइन व मैन्युअल कामों को आसान बनाने के लिए ई-साइन की सुविधा पोर्टल पर उपलब्ध है। दावों के निपटान की प्रक्रिया को तेज कर दिया है।