मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में एक ही दिन में एक पॉजिटिव सहित 14 नए संदिग्ध मरीज भर्ती, सभी के लिए गए सैंपल

  • आइसोलेशन वार्ड में सात पॉजिटिव सहित 30 संदिग्ध लोगों का चल रहा है इलाज, फतेहाबाद से पॉजिटिव मरीज को किया गया भर्ती

अग्रोहा. महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में गुरुवार को एक नया पॉजिटिव मरीज भर्ती किया गया, अब मेडिकल कॉलेज में सात पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है। मेडिकल कॉलेज के नोडल अधिकारी एवं डीएमएस डाॅ. राजीव चौहान ने बताया कि बुधवार को कोविड हॉस्पिटल के आइसोलेशन वार्ड में 6 पॉजिटीव सहित 21 संदिग्ध लोग उपचाराधीन थे। जिनमें से पांच लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी और उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था और 16 लोगों का उपचार चल रहा था, लेकिन गुरुवार को मेडिकल कॉलेज अग्रोहा एक पॉजिटिव मरीज सहित 14 संदिग्ध लोगों को भर्ती किया गया। अब आइसोलेशन वार्ड में 7 पॉजिटिव सहित संदिग्ध 30 लोग का इलाज किया जा रहा है मेडिकल कॉलेज के अिधकारियों के अनुसार पॉजिटिव मरीजों की हालत में काफी सुधार है। गुरूवार को पॉजिटिव मरीज फतेहाबाद के नागरिक अस्पातल से रेफर होकर आया है। वहीं आदमपुर खंड के गांव दड़ौली में शनिवार 25 अप्रैल को मिले कोरोना संक्रमित युवक की तीसरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ चुकी है। युवक के इलाज के लिए मेिडकल कॉलेज की टीम सतर्क है ।

आइसोलेशन वार्ड में भर्ती पांच पॉजिटिव मरीजों के शनिवार को भेजे जाएंगे दोबारा सैंपल

नोडल अधिकारी डाॅ. चौहान ने बताया कि दड़ौली निवासी युवक की रिपोर्ट तीसरी बार पॉजिटिव आ चुकी है अब शनिवार को जांच के लिए दोबारा सैंपल भेजा जाएगा। वहीं आइसोलेशन वार्ड में भर्ती अन्य सभी संदिग्ध लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जिनकी रिपोर्ट आनी बाकि है। गुरूवार को को कोविड ओपीडी में 70 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई और चार लोगों को क्वारेंटाइन होम में रहने के लिए भेजा गया है। इधर, मरीजों के उपचार को लेकर मेडिकल कॉलेज की टीम सतर्क है।

पॉजिटिव मरीजों के परिवार के 42 लोगों को अग्रोहा धाम में बने क्वारेंटाइन होम में रखा गया
डीएमएस डाॅ. संदीप राणा ने बताया कि अग्रोहा धाम के क्वारेंटाइन होम में 42 लोगों को 14 दिनों के लिए रखा गया है। वे लगभग पॉजिटिव मरीजों के परिवार के लोग है। जिनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आ चुकी है। उन्हें 14 दिन बाद घर भेज दिया जाएगा। इसके अलावा उन्हें सोशल डिस्टेस बनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है और उन्हें सुबह शाम योग भी कराई जा रही है ताकि वे अन्य बीमारियों से भी बच सकें।