जिले की सीमाएं सील, अब अफसर व कर्मचारी भी नहीं कर सकेंगे बॉर्डर पार

  • सरकारी और निजी अधिकारियों को करनी होगी ठहरने की व्यवस्था

कुरुक्षेत्र. जिले को कोरोना वायरस से बचाने के लिए प्रशासन हरसंभव कदम उठा रहा है। स्थिति का आंकलन कर रोजाना नई व्यवस्थाएं भी बन रही है। जहां प्रदेश की सीमाओं को सील किया गया है। वहीं अब कुरुक्षेत्र की दूसरे जिलों से लगती सीमाओं को भी सील किया जा रहा है। यानि अब इंटर जिला मूवमेंट भी नहीं हो सकेगी। यही नहीं अधिकारियों व कर्मचारियों को भी बार्डर पार करने की अनुमति नहीं होगी। विशेष मामलों में ही बार्डर पार कर सकेंगे। हालांकि सिर्फ जरुरी सेवाओं के लिए छूट होगी। इसे लेकर डीसी धीरेन्द्र खड़गटा ने बुधवार को आदेश भी जारी कर दिए। जिसके चलते कई जगहों पर सीमा को सील भी कर दिया है ।
चंडीगढ़ नहीं कर सकेंगे अप-डाउन : सरकारी और निजी दफ्तरों के अधिकारी और कर्मचारी भी अब कुरुक्षेत्र से चंडीगढ़ और पंजाब में प्रतिदिन अप-डाउन नहीं कर पाएंगे। इन अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए बार्डर क्रास करना मुश्किल होगा। इन अधिकारियों, कर्मचारियों को हिदायत जारी कर कुरुक्षेत्र या संबंधित कार्यस्थलों पर ही ठहरने की व्यवस्था करनी होगी। इतना ही नहीं जिन कुछ केसों में छूट दी जाएगी, उन लोगों का बार्डर पर थर्मल स्केनिंग, रेपिड टेस्ट भी होगा ।
पटियाला से एंट्री पूरी तरह बैन : अब पटियाला से न कोई आ सकेगा और न ही यहां से पटियाला जा सकेगा। एसपी आस्था मोदी बार्डर एरिया पर सख्ती से पालना कराएंगी। पुलिस फोर्स लगाकर बार्डर एरिया को सील करेंगी। बार्डर एरिया से आवश्यक वस्तुओं जिसमें, सब्जी-फल, अनाज, अंडे-मीट, दूध, पशुओं के चारे व अन्य सामग्री, पोल्ट्री और पशुओं के लिए खाद्य सामग्री, दवा व यंत्र, मास्क, गलब्स, सेनिटाईजर, वेंटिलेटर सहित अन्य जरुरी सामग्री को ही छूट रहेगी ।

इनको बॉर्डर क्राॅस करने की छूट
जिलाधीश ने जारी आदेशों में कहा है कि बार्डर एरिया क्रास करने के लिए कुछ विभागों के अधिकारियों को छूट दी गई है, जिसमें एम्बुलैंस, डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, आयुष स्टाफ, फायर बिग्रेड, कैश वैन, तेल टेंकर, पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट, भारतीय डाक विभाग, आपदा प्रबंधन, राष्ट्रीय सूचना केन्द्र व एफसीआई के सरकार द्वारा अधिकृत अधिकारी व कर्मचारी कोविड-19 के नियमों की पालना करके बार्डर क्राॅस करने की छूट दी गई है।
24 घंटे पूरा सप्ताह खुले रहेंगे पेट्रोल पम्प

वहीं बुधवार को पेट्रोल पंपों को लेेकर फिर से आदेश बदले गए। पहले पंप सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खोलने के आदेश हुए थे। लेकिन अब जिले में सभी पेट्रोल पंप पूरे सप्ताह 24 घंटे खुले रखे जा सकेंगे। नगर परिषद और नगर पालिकाओं के अधिकारी इसकी पालना कराएंगे ।

सुविधा अनुसार करें जिले में रुकने की व्यवस्था
अन्य जिलों व राज्यों के जो व्यक्ति कुरुक्षेत्र जिले में कार्यरत हैं, वे अपनी सुविधानुसार कुरुक्षेत्र में रहने का प्रबंध करेंगे ताकि प्रतिदिन बार्डर क्रास करने से बच सकें। इसी प्रकार कुरुक्षेत्र जिले के जो व्यक्ति अन्य जिलो में कार्यरत है, वह भी अपने कार्यस्थल संबंधित जिले में ही रहे। कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यह जरूरी है । क्योंकि दैनिक मूवमेंट से वायरस के फैलने का खतरा रहता है।