कोरोना पीड़िता के जेठ पर केस, आरोप-बेटी के बर्थडे में लोग जुटाए, इसी वजह से हुआ महिला को कोरोना

यमुनानगर. लॉकडाउन में बेटी का अपने ही घर में बर्थडे मनाना मर्चेंट नेवी के कर्मचारी को भारी पड़ गया। पुलिस ने उस पर आधा दर्जन धाराओं में केस दर्ज किया है। आरोपी ने घर में बेटी का जन्मदिन मनाया और लोगों को बुलाया, यह बात तब पता चली जब उसकी भाभी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गई। पुलिस का मानना है कि बर्थडे की पार्टी में जुटे लोगों की वजह से ही महिला कोरोना संक्रमण की चपेट में आई है। बर्थडे 27 अप्रैल को था, तब न तो पुलिस को इसका पता चला और न ही स्वास्थ्य विभाग को। उस दिन बर्थडे में जुटे लोगों को लेकर पुलिस ने अब एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने कोरोना पॉजिटिव पाई गई महिला के जेठ को आरोपी बनाया है। बर्थडे पर 20 से 25 लोग जुटे थे। इसमें परिवार के साथ-साथ पड़ोस और कुछ अन्य जानकार भी थे। अब इन सभी के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। बताया जा रहा है कि बेटी का जन्मदिन मनाने के बाद व्यक्ति अपने परिवार के साथ वापस पंजाब में चला गया था।
लॉकडाउन में मोहाली से यमुनानगर आए और वापस भी चले गए| सीआईए 2 के इंचार्ज महरूफ अली ने फर्कपुर थाने में केस दर्ज कराया है। उन्होंने अपनी शिकायत में बताया एसपी की तरफ से कोरोना महामारी में उनकी ड्यूटी विदेश और बाहर से आने वालों की जानकारी लेने और उनकी जांच कराने में लगी है। वे अपनी टीम के साथ चेकिंग पर थे। उन्हें पता चला कि सरोजनी कॉलोनी में मोहाली पंजाब से अपने पिता के घर सरोजनी कॉलोनी में परिवार समेत आए है। वह 9 अप्रैल को यहां आया था। उसने अपनी बेटी का 27 अप्रैल को जन्मदिन मनाया। इस जन्मदिन में परिवार के लोग और पड़ोस से भी कई लोग शामिल हुए थे। परिवार से एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। जन्मदिन में जुटे लोगों की वजह से महिला कोरोना की चपेट में आई है। शिकायत पर मोहाली से परिवार के साथ बेटी का जन्मदिन मनाने वाले पर फर्कपुर पुलिस ने धारा 188, 267, 268, 269 और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट में केस दर्ज किया है।
डायलिसिस सेंटर के बिल्डिंग में जाने पर रोक| कोरोना पॉजिटिव पाए गए गांव कुटीपुर निवासी बुजुर्ग ने जगाधरी के सिविल अस्पताल में चल रहे डायलिसिस सेंटर में डायलिसिस करवाई थी। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने उस पूरी बिल्डिंग में किसी को भी जाने नहीं दिया। उस बिल्डिंग में डायलिसिस सेंटर के साथ-साथ फूड सेफ्टी अधिकारी और ड्रग कंट्रोलर का ऑफिस भी है। दोनों ऑफिस भी सील हैं। स्वास्थ्य विभाग ने डायलिसिस करने वाले कर्मचारियों के भी सैंपल लिए हैं। वहीं उन्हें का क्वारेंटाइन किया गया है। जिस मशीन पर कोरोना पॉजिटिव पाए गए पेशेंट की डायलसिस हुई थी, उस पर 12 मरीजों के डायलिसिस हुई थी।
306 लोगों की रिपोर्ट आना बाकी| सीएमओ डॉ विजय दहिया ने बताया हमने कोरोना जांच का दायरा बढ़ा दिया है। हर दिन सैकड़ों की संख्या में कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। बुधवार तक 306 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है। सीएमओ डॉ विजय दहिया ने बताया बुधवार को 77 सैंपल की रिपोर्ट आई है। सभी रिपोर्ट नेगेटिव है। यह रिपोर्ट सब्जी मंडी यमुनानगर में काम करने वाले वॉलिंटियर और अन्य सब्जी विक्रेताओं की है।

पीजीआई से वापस भेजा गया मरीज

कोरोना पॉजिटिव पाए गए गांव कुटीपुर निवासी बुजुर्ग को मंगलवार को पीजीआई चंडीगढ़ भेजा गया था, लेकिन वहां पर पहले से ही काफी संख्या में भर्ती कोरोना पेशेंट की संख्या को देखते हुए बुजुर्ग को एडमिट करने से मना कर दिया गया। इसके बाद यमुनानगर स्वास्थ्य विभाग बुजुर्ग को वापस लेकर आया। अब उसे यहां ईएसआई अस्पताल में बनाए गए कोविड- सेंटर में एडमिट किया गया है। बुजुर्ग पहले से किडनी पेशेंट है, लेकिन अब उसे कोरोना होने से हर किसी की चिंता बढ़ी हुई है।