हिमाचल की 31 नर्सिंग छात्राओं को प्रशासन ने पहुंचाया उनके घर

  • छात्राओं को बिलासपुर में प्रशासनिक अधिकारियों को सुपुर्द किया

ऐलनाबाद. शहर के नर्सिंग कॉलेज में पढ़ रही हिमाचल प्रदेश की 31 छात्राओं को उपमंडल प्रशासन ने बुधवार को उनके घर पहुंचाया। हरियाणा रोडवेज की बस में आज इन छात्राओं को हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में प्रशासनिक अधिकारियों को सुपुर्द किया। इन छात्राओं के परिजनों ने प्रशासन से इनके घर वापसी की गुहार लगाई थी।
तहसीलदार हरकेश गुप्ता ने बताया कि शहर की नर्सिंग कॉलेज में पढ़ने वाली 31 छात्राओं के परिजनों ने हिमाचल प्रदेश से गुहार लगाई थी कि उनकी बच्चियों को किसी तरह उनके घर पहुंचाया जाये। जिस पर कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने बुधवार 5:30 बजे हरियाणा रोडवेज की बस से बिलासपुर भिजवाया जहां यह छात्राएं सकुशल अपने अपने घर पहुंच चुकी है। उन्होंने बताया कि 31 छात्राओं में 11 छात्राएं हमीरपुर जिला की, 8 छात्राएं मंडी जिला की, 5 बिलासपुर जिला की, 3 छात्राएं शिमला जिला की तथा 2 छात्राएं ऊना व एक -एक छात्रा कुल्लू व कांगड़ा जिला की रहने वाली है। रवाना करने से पूर्व सभी 31 छात्राओं की मेडिकल जांच की गई जो मंगलवार मध्य रात्रि तक जारी थी। इस अवसर पर स्वयं एसडीएम दिलबाग सिंह व थाना प्रभारी राधेश्याम भी मौजूद थे। सभी की जांच पूर्ण होने पर बुधवार प्रातः ही तहसीलदार हरकेश गुप्ता व पटवारी राजेंद्र जांगिड़ की उपस्थिति में इन छात्राओ को हरियाणा रोडवेज की सैनिटाइज की गई बस में रवाना कर दिया गया।

विदेशों से लोगों को वापस लाने के बाद होगी जांच

सिरसा| डीसी रमेश चंद्र बिढ़ान ने बताया कि ऐसे भारतीय नागरिक जो विदेशों में रह रहे हैं और वापिस आने के इच्छुक हैं। ऐसे नागरिकों को वापिस लाने संबंधी कार्य के लिए सरकार प्रयासरत है। विदेशों में रह रहे ऐसे कुछ व्यक्तियों का संबंध जिला सिरसा जिला से भी हो सकता है। ऐसे में उनकी वापसी के मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा उनकी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के तहत स्वास्थ्य जांच व अन्य आवश्यक प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी। उन्होंने बताया कि इस कार्य के लिए राज्य कृषि विपणन बोर्ड के कार्यकारी अभियंता विरेंद्र शर्मा 94170-95657 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।