हरियाणा में पैरोल और जमानत पर गए चार हजार कैदियों की अवधि 5 सप्ताह और बढाई गई

  • हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा केंद्र सरकार के निर्देश के बाद लिया फैसला
  • अब कोरोना टेस्ट के बाद ही जेल में कैदियों को लाया जाएगा

चंडीगढ़. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ऐलान किया है कि केंद्र सरकार के निर्देश पर महामारी के चलते चार हजार कैदियों की पैरोल और अंतरिम जमानत की अवधि पांच सप्ताह के लिए बढ़ा दी गई है। अब कोरोना टेस्ट के बाद ही कैदियों को जेल में लाया जाएगा।

बुधवार को चंडीगढ़ में हरियाणा आज कार्यक्रम के दौरान प्रदेश वासियों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश की सभी जेलों में सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य सुरक्षा उपायों का प्रबंध किया जा रहा है। जेलों की डयोढी में कैदियों व बंदियों के हाथ धुलवाने के आदेश पहले ही जारी हो चुके हैं।

आर्थिक मंदी से बचने के लिए हमने आर्थिक गतिविधियां शुरू की हैं और बाजारों को खोला गया है। जिस तरह भीड़ जमा हो रही, वह ठीक नहीं है। अनुशासन बनाकर रखें। मुख्यमंत्री ने फसल खरीद पर जानकारी देते हुए बताया कि इस पर 1800 गेहूं खरीद केंद्र और 200 सरसों खरीद केंद्र बनाए गए हैं। अभी तक साढ़े चार लाख टन सरसों खरीदी गई है और किसानों को 800 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका। इसी तरह 50 लाख टन गेहूं की खरीद करते हुए 820 करोड़ रुपये किसानों को दिए हैं।