बिहार व यूपी जाने को सिरसा से चले मजदूर पहुंचे फतेहाबाद, युवाओं ने खाना खिलाकर की मदद

  • युवाओं ने मजदूरों से की रुकने की अपील, मजदूर बोले-कई दिन हो गए अब घर की याद आती है

फतेहाबाद. बिहार-यूपी जाने के लिए सिरसा से 15 मजदूर पैदल ही रवाना हो गए। मंगलवार रात को यह मजदूर फतेहाबाद पहुंचे। जिसकी जानकारी मिलने पर फतेहाबाद के कुछ युवाओं ने उनकी आपबीती सुनी व उन्हें भोजन आदि मुहैया कराया। मजदूरों से यहीं रहने की अपील भी की गई, लेकिन घर जाने की जिद के चलते वह रुके नहीं, पैदल ही हिसार की ओर चले गए। मंगलवार रात करीब 11 बजे शहर के जीटी रोड पर 15 प्रवासी मजदूर सड़क मार्ग से हिसार की तरफ जा रहे थे। इन लोगों के हाथों में बाल्टियां, बोतलें, थैले आदि थे। इस बीच वहां से गुजर रहे जवाहर चौक युवा मंच के सदस्यों ने मजदूरों से इस तरह से चलने का कारण पूछा तो उन्होंने अपनी कहानी बताई। वहीं सूचना मिलते ही गुरदीप सिंह बग्गा व जेजेपी के शहरी हल्का अध्यक्ष विकास मेहता अपनी टीम के साथ मौके पर पहुचे। इन युवाओं ने सिरसा से आए प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाया। उन्हें खाने-पीने का सामान व कुछ नकदी भी दी। युवाओं ने उन्हें यहीं रहने की अपील की, लेकिन मजदूर बोले, वह काफी दिन से सिरसा फंसे हुए थे, अब किसी तरह से घर पहुंचना चाहते हैं।
ठेकेदार हमें लेकर आया था, छोड़ कर फरार हो गया

मजदूर कन्हैया अाैर राजेश ने बताया कि लॉकडाउन लगने के 2 दिन पहले ही ठेकेदार उन्हें मज़दूरी के लिए सिरसा लेकर आया था। जैसे ही लॉकडाउन हुआ तो कुछ दिन बाद ठेकेदार उन्हें छोड़कर चला गया। लंबे समय से यहां रहने से अब काफी दिक्कतें आने लगी हैं। इसलिए घर के लिए पैदल ही चल पड़े।