बिना बारिश भी तोशाम राेड डिस्पाेजल में पहुंच रहा पानी

  • डिप्टी स्पीकर काे ग्रामीणाें ने की शिकायत, निगम, पब्लिक हेल्थ के अफसर एक दूसरे पर डाल रहे जिम्मेदारी

हिसार. स्टाॅर्म वाटर लाइन यानी बारिश के पानी निकासी के लिए बनाया गया नाला। मगर ये हैरानी की बात है कि यह नाला बिना बारिश के भी बह रहा है। डाबड़ा व कैमरी गांव के लाेग बरसाती पानी की निकासी के लिए खेताें से बनाए गए ड्रेनेज में बार-बार सीवरेज का पानी डाले जाने काे लेकर शिकायत कर रहे हैं। हालांकि ये हकीकत भी है कि नगर निगम जिस स्टाॅर्म वाटर डिस्पेजल काे मेनटेन कर रहा है उसमें बिना बारिश के ही लगातार पानी पहुंच रहा है।
मामले काे लेकर हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा भी बार-बार संबंधित विभागाें के अधिकारियाें काे लिख चुके हैं मगर एचएसवीपी ये मामला नगर निगम पर डाल रहा है और नगर निगम ये मामला एचएसवीपी अाैर पब्लिक हेल्थ पर डाल रहा है। मामले के समाधान काे लेकर नगर निगम के एसई रामजीलाल कई बार चिट्ठी लिख चुके हैं कि अगर सीवरेज के अवैध कनेक्शन हैं ताे कटवाओ दूसरा अगर संबंधित विभाग ने कहीं सीवरेज लाइन स्टाॅर्म वाटर में जाेड़ रखी है ताे इसे हटाया जाए। मगर इसके बावजूद अाज भी स्थिति ज्याें की त्याें बनी हुई है। आखिर में अब मामला जिला प्रशासन के पास पहुंच गया है। एसडीएम ने की तीन सदस्यीय कमेटी जाे एक साथ करेगा माैके का निरीक्षण मामले का समाधान न निकलने के बाद अब एसडीएम ने तीन सदस्यीय कमेटी जांच के लिए गठित की है। इसमें नगर निगम, पब्लिक हेल्थ और एचएसवीपी के अधिकारी शामिल हैं।
सीवरेज एचएसपीपी और पब्लिक हेल्थ के पास
यहां सबसे बड़ा सवाल उठता है कि आखिर स्टाॅर्म वाटर लाइन में जाे सीवरेज का पानी जा रहा है वह किसका है। क्याेंकि सीवरेज पब्लिक हेल्थ व हुडा यानी एचएसवीपी के पास है। ऐसे में नगर निगम के पास ताे सीवरेज मेंटीनेंस का काम नहीं है।

फसलें हाे रही है खराब, पाॅल्यूशन भी हाे रहा
दरअसल ड्रेनेज में जाे पानी डाला जा रहा है वह सीवरेज का है। ये पानी बिना ट्रीट हुए लाेगाें के खेताें तक पहुंच रहा है। क्याेंकि ये बरसाती नाले की ड्रेनेज है। ऐसे में किसानाें की जमीनें व फसलें खराब हाे रही है। इसके अलावा ये एनजीटी के आदेशाें की उल्लंघना भी है। क्याेंकि सीवरेज का पानी ऐसे ओपन में डालना अपराध है क्याेंकि इससे पाॅल्यूशन हाेता है।

कमेटी गठित की जो एसडीएम को देगी रिपोर्ट
हमारे डिस्पाेजल में बिना बारिश भी पानी पहुंच रहा है। डिप्टी स्पीकर साहब खुद इस मामले काे लेकर गंभीर है। एसई साहब की तरफ से दाेनाें विभागाें काे भी लिखा जा चुका है। अब एक तीन सदस्यीय ज्वाइंट कमेटी गठित की जाे माैके का निरीक्षण कर एसडीएम साहब काे रिपाेर्ट देगी।- संदीप सिहाग, एक्सईएन, निगम।