ठेके खुले तो लेडीज भी पीछे नहीं हटी, लाइन लगाकर खरीदी शराब की पेटियां, देखिए तस्वीरें

  • हरियाणा में 41 दिन के बाद खुले हैं शराब के ठेके, राज्य सरकार ने 27 मार्च को बंद कर दी थी शराब की बिक्री
  • हरियाणा सरकार ने शराब पर लगाया सेस, महंगी हुई शराब, सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक बेच सकेंगे

पानीपत. बुधवार को हरियाणा में 41 दिन के बाद शराब के ठेके खुले। जैसे ही ठेकों के शटर ऊपर उठे, ग्राहकों की लाइनें लग गई। हरियाणा में दिल्ली की तरह धक्का-मुक्की नजर नहीं आई। यहां लोगों ने शराब की दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया। शराब खरीदने में महिलाएं भी पीछे नहीं हटी। गुड़गांव में उन्होंने भी लाइन लगाकर शराब खरीदी।

ये दृश्य गुड़गांव का है, एक महिला शराब की पेटी लेकर जा रही है, जबकि अन्य खरीदार सोशल डिस्टेंश बनाकर खरीदारी कर रहे हैं।

रेवाड़ी के बावल क्षेत्र में ठेकों पर लंबी-लंबी लाइनें दिखी। हरियाणा के अधिकतर शहरों में ठेकों के बाहर इसी तरह का दृश्य था।

हिसार के हांसी शहर में ठेके पर लगी लाइन। बता दें कि हरियाणा सरकार ने शराब पर कोरोना सेस लगा दिया है, इससे शराब महंगी हो गई है।

रेवाड़ी शहर में शराब लेकर निकलते हुए कुछ ग्राहक। हरियाणा में कोरोना सैस के बाद देशी शराब की बोतल 5 रुपये तक महंगी हो गई है।

सिरसा में शराब के ठेकों पर कोई भीड़ नजर नहीं आई। यहां सुबह से खाली-खाली दुकानें नजर आई। हरियाणा में अब विदेश से आने वाली शराब की बोतल पर 50, अद्धा और पव्वे पर 25 रु. बढ़ गए हैं।

फरीदाबाद में शराब के ठेके के बाहर लगी लाइन। हरियाणा में अब देश में बनी विदेशी शराब की बोतल पर 20, अद्धा पर 10 व पव्वे पर 5 रु. बढ़ गए हैं।