रोस्टर बना दिन तय किए, 9 से 2 बजे तक हफ्ते में 3 दिन खोल सकेंगे दुकानें

  • पहले सुबह 7 से शाम 7, फिर सुबह 9 से 5 और बाद में 9 से दोपहर दो बजे तक दुकानें खोलने का टाइम तय करना पड़ा
  • स्वीट शॉप, करियाना व मेडिकल शॉप ही खुल सकेंगी रोज, बाकियों का शेड्यूल तय
  • बाजार में जुटी भीड़ तो शाम तक दो बार जिला प्रशासन को बदलने पड़े आदेश

कुरुक्षेेत्र. लॉकडाउन का तीसरा चरण रियायतों के साथ सोमवार से शुरू हुआ। 40 दिन से ज्यादा तक बाजार बंद रहने के बाद सोमवार को खुल गए। बाजार खुले तो रौनक भी बढ़ गई, लेकिन इसी रौनक ने प्रशासन की चिंता भी बढ़ा दी। क्योंकि भीड़ से सोशल डिस्टेंस बनाए रखना भी चुनौती हो गया। वहीं अधिकतर लोग बिना मास्क के बाहर निकले दिखे। यह देख प्रशासन को भी दो बार आदेश बदलने पड़े। पहले जहां सुबह सात से शाम सात बजे तक दुकानें खोलने का समय तय किया था, लेकिन बाद में दूसरा आदेश जारी हुआ। इसमें सुबह 9 से 5 बजे तक समय तय किया, लेकिन शाम को फिर से बदलाव किया। अब दुकानों का समय सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक ही तय किया है। साथ ही दुकानें खोलने के लिए रोस्टर भी तय है। करियाना, स्वीट शॉप, मेडिकल व अन्य आवश्यक सेवाओं की दुकानें ही रोज खुल सकेंगी। बाकी दुकानें हफ्ते में सिर्फ तीन दिन ही खोल सकेंगे। रात को एक तरह से कर्फ्यू रहेगा। दुकानों में भी पांच से ज्यादा लोग मिलने पर एफआईआर दर्ज की जाएगी।
हफ्ते में तीन दिन, सुबह नौ से दो तक

प्रशासन ने अब दुकानें खोलने को रोस्टर बनाया है। इसके तहत हर दुकान खोलने के लिए दिन तय किए हैं। हफ्ते में तीन दिन ही दुकानें खोलने की अनुमति दी है। एक दिन छोड़कर दुकान खुलेंगी। मेडिकल, करियाना, स्वीट शॉप, दूध डेयरी आदि रोजाना खुलेंगी। क्योंकि इन्हें एक दिन छोड़कर खोलना संभव नहीं है। इससे दुकानदारों का नुकसान होगा, यह रोस्टर अभी और डेवलप होगा। इसमें जो दुकानें छूट गई हैं, उसे भी शामिल करेंगे।
हर डिवीजन पर बनेगा रोड मैप

डीसी धीरेन्द्र खड़गटा सोमवार को लघु सचिवालय में अधिकारियों की मीटिंग ली। सभी एसडीएम को आदेश दिए कि वे अपने क्षेत्र में एक रोड मैप तैयार करेंगे ताकि कार्रवाई हो सके। इसके अलावा सभी एसडीएम ड्यूटी मजिस्ट्रेट को लॉकडाउन-3 के तहत 4 से 17 मई तक के लिए निर्धारित किए गए नियमों की बारे में बारीकी से जानकारी देंगे। ताकि वे इन नियमों की पालना करा सके।

रोजाना सिर्फ इन्हें खोलने की मंजूरी
नई समय सारणी के अनुसार दूध, डेयरी उत्पाद, मिठाइयों की दुकान, टी-स्टाल, सब्जी-फल, दवा की दुकान, करियाना, हरे और सूखे उत्पाद, कान्फेक्शरी, पेस्टीसाइड, बीज, फर्टीलाइजर, कृषि उत्पाद, बुक स्टाल, स्टेशनरी, फोटो स्टेट, फार्म, वीटा बूथ, ड्राई क्लीनर की दुकान ही रोज नौ से दो बजे तक खुलेंगी। घर-घर दूध की सप्लाई करने वाले दूध विक्रेता और वीटा बूथ सुबह 7 बजे से सुबह 9 बजे तक और सायं 5 बजे से साढ़े 6 बजे तक सप्लाई कर सकेंगे। पेट्रोल पंप भी सुबह 7 से शाम साढ़े 6 बजे तक खुलेंगे।
ये खुलेंगी सोमवार, बुधवार और शुक्रवार
जरनल स्टोर, जूते-चप्पल की दुकान, कपड़े की दुकान, रेडीमेड गारमेंट्स, हैंडलूम्स, गिफ्ट, खिलौने, फर्नीचर (लकड़ी व प्लास्टिक), टाल, अॉटोमोबाइल, अॉटो स्पेयर पार्टस, टायर-टयूब, टेंट हाउस, बार्बर शॉप सप्ताह में 3 दिन सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को नौ से दो बजे तक खुलेंगी।
ये खुलेंगी मंगलवार, गुरुवार व शनिवार
आयरन स्टोर, हार्डवेयर स्टोर, सेनेटरी स्टोर, शटरिंग मैटीरियल, बिल्डिंग निर्माण सामग्री, स्टोन, टाइल्स, इलेक्ट्रिक व इलेक्ट्रॉनिक गुड्स, मोबाइल, आईटी, कम्प्यूटर सेल एंड सर्विस स्पेयर, अॉप्टिकल्स, घडिय़ों, क्रॉकरी, बर्तन, ज्वैलरी व स्नैक्स की दुकानें मंगलवार, गुरुवार व शनिवार को नौ से दो बजे तक खुलेंगी।

दुकान के बाहर गोला जरूरी
डीसी ने कहा कि सोशल डिस्टेंस रखना जरूरी होगा। हर दुकान के सामने 6 फीट की दूरी पर गोल दायरा होगा। दुकानों में सेनिटाइजर रखना होगा। दुकान के कांउटर, डेस्क और कुर्सियों को दिन में दो बार सेनिटाइज किया जाएगा। दुकानों के बाहर वाहन की पार्किंग नहीं होगी। मोबाइल में आरोग्य सेतु एप का होना जरूरी है।

इन गतिविधियों पर रहेगा प्रतिबंध
अगले दो सप्ताह तक मेडिकल सेवा और एयर एम्बुलेंस को छोड़कर सभी उड़ान बंद रहेंगी। ट्रेन, अंतरराज्यीय बस, मैट्रो रेल सेवा, व्यक्तिगत अंतरराज्यीय मूवमेंट, सभी स्कूल, कॉलेज, शिक्षण संस्थान, ट्रेनिंग कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। इलाज के लिए अंतरराज्यीय मूवमेंट की छूट होगी। हॉस्पिटैलिटी सेवाएं, सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, खेल परिसर, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, बार, ऑडिटोरियम हॉल, एसेंबली हॉल बंद रहेंगे। सभी सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम व संस्थान भी बंद रहेंगे।

सैर पर भी पाबंदी

शादी-विवाह और शिवधामों में पांच से ज्यादा लोग एकत्रित नहीं होंगे। मंडियों में सोशल डिस्टेंस रखा जाएगा। निजी कार्यालयों को 33 प्रतिशत स्टाफ के साथ खोलने की इजाजत दी है। सड़कों के किनारे किसी को भी फल सब्जी बेचने की इजाजत नहीं होगी। बाहर से आने वाले श्रमिकों को अलग से क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। डीसी ने सीएमओ को आदेश दिए कि सभी पुलिस कर्मियों, एएनएम, चिकित्सकों के भी कोरोना वायरस की जांच को सैंपल लिए जाएं।

रात को सड़कों पर निकलना बंद, पकड़े जाने पर कार्रवाई
डीसी ने सीआरपीसी की धारा 144 के तहत आदेश जारी किए हैं कि रात को सात से सुबह सात बजे तक सड़कों पर नहीं निकल सकेंगे। बिना वजह मूवमेंट नहीं कर सकेंगे। इतना ही नहीं 65 वर्ष से ज्यादा आयु वर्ग, गर्भवती महिला, 10 वर्ष से कम आयु वर्ग के बच्चे और क्रानिक बीमारियों से ग्रस्त लोग बाहर नहीं जा सकेंगे। सिर्फ इलाज के लिए आ जा सकेंगे। कंटेनमेंट जोन में ओपीडी और मेडिकल क्लीनिक बंद रहेंगे।
दूसरे राज्यों से आने वाले होंगे क्वॉरेंटाइन : सभी एसडीएम लॉकडाउन-3 को हाई रिस्क समझकर लोगों को जागरूक करने का काम करेंगे। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। क्वॉरेंटाइन लोगों का चेकअप किया जाएगा।