मूवमेंट पास के लिए सरकार ने जारी की संचालन प्रक्रिया, ई-दिशा पोर्टल पर कराना होगा पंजीकरण

यमुनानगर. कोविड-19 के कारण लॉकडाउन के दौरान विभिन्न राज्यों में फंसे हरियाणा के लोगों और प्रदेश में फंसे अन्य राज्यों के लोगों की सुचारु आवाजाही करने के लिए सरकार ने मानक संचालन प्रक्रिया यानी एनओसी जारी की है। प्रदेश से बाहर जाने के इच्छुक लोगों को सरकार द्वारा ई दिशा पोर्टल पर वेबपेज में अपना पंजीकरण कराना होगा। ऐसे पंजीकरण सहायता के लिए हारट्रोन द्वारा एक कॉल सेंटर चलाया जा रहा है जो ई दिशा पोर्टल पर पंजीकरण करेगा। नंबर 1950 या संबंधित जिलों के नियंत्रण कक्ष से या नंबर 1100 पर राज्य नियंत्रण कक्ष से संपर्क किया जा सकता है।
बाहर से आने वालों की होगी जांच | सरकार के आदेशों में बताया गया है कि जो लोग दूसरे जगह से प्रदेश में आना चाह रहे हैं। उनकी मेडिकल जांच कराई जाए। केवल उन लोगों को अनुमति मिले जिनमें कोविड-19 के लक्षण नहीं हैं। इतना ही नहीं, प्रदेश से जाने वालों की भी जांच होगी। अपने वाहनों से यात्रा करने वालों को वेब लिंक पर अपना पंजीकरण कराना होगा। अनुमति को डाउनलोड करना होगा। मेडिकल स्क्रीनिंग के दौरान इस प्रारूप को दिखाना होगा। संबंधित जिलों से परमिट के लिए आवेदन करेंगे। उन्हें स्पष्ट रूप से गंतव्य, यात्रा की तारीख और मार्ग का उल्लेख करना होगा।

आरोेग्य सेतु एप डाउनलोड करना जरूरी

हर आने वाले व्यक्ति को उसके मोबाइल पर आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के बाद ही उसे आगे जाने दिया जाएगा। प्रदेश में आने वाले सभी व्यक्ति न केवल पंजीकरण कराने के लिए बाध्य होंगे बल्कि उन्हें पंजीकरण की डाउनलोड प्रति स्मार्ट फोन में या साफ्टकॉपी दिखानी होगी। आने व जाने वाले को हर व्यक्ति को अपनी पहचान के लिए पहचान पत्र या कोई अन्य दस्तावेज साथ रखना होगा। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन को गंभीरता से पालन करना हाेगा। ऐसा न करने पर कानूनी कार्रवाई का शिकार हो सकते हैं।