बहादुरगढ़ में दूसरे दिन फिर चली गोली, नाली में कूड़ा डालने के विवाद में दंपति घायल

  • बहादुरगढ़ के आर्य नगर में मंगलवार को दो पक्षों के बीच गली की नाली में कूड़ा डालने को लेकर विवाद हो गया
  • सोमवार को लाइन पार इलाके में पुलिस मुलाजिम और एक पड़ोसी की गोली मारकर हत्या कर दी थी

बहादुरगढ़. झज्जर जिले के बहादुरगढ़ शहर में मंगलवार को फायरिंग की घटना में एक महिला और उसका पति घायल हो गए। विवाद की वजह नाली को लेकर हुई कहासुनी को बताया जा रहा है, जिसके बाद नौबत यहां तक आ गई। एक पक्ष द्वारा दूसरे पक्ष के लोगों पर गोलियां चलाए जाने के चलते दंपति घायल हो गया है। दो दिन में गोली चलने की यह दूसरी घटना है। बहरहाल, घायलों को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराए जाने के अलावा पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

मिली जानकारी के अनुसार बहादुरगढ़ के आर्य नगर में मंगलवार को दो पक्षों के बीच गली की नाली में कूड़ा डालने को लेकर विवाद हो गया। इसी विवाद में एक पक्ष द्वारा चलाई गई गोली में महिला सुनीता व उसका पति घायल हो गए। दोनों घायलों को उपचार के लिए शहर के संजय हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। वहां दोनों का उपचार चल रहा है।

क्या कहना है पुलिस अधिकारी का?
डीएसपी अजायब सिंह और शहर थाना पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची और घायलों के बयान लेकर कार्यवाही शुरू कर दी है। साथ ही अपराध शाखा की टीमें भी सक्रिय हो गई और आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुट गई है। डीएसपी अजायब सिंह ने बताया कि आर्य नगर में घायलों का पड़ोसियों के साथ गली नाली की बात को लेकर झगड़ा हुआ है। इसी झगड़े में दूसरे पक्ष ने गोली चलाई है। उन्होंने कहा कि घायलों के बयान लेकर कार्यवाही आगे बढ़ाई जा रही है।

सोमवार को हुई थी दिल्ली पुलिस के जवान समेत 2 की हत्या
बहादुरगढ़ में सोमवार को डबल मर्डर कर दिया गया। लाइनपार की वत्स कॉलोनी के रहने वाले दिल्ली पुलिस के जवान व उसके पड़ोसी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वत्स कॉलोनी निवासी मनोज दिल्ली पुलिस में कार्यरत था। सोमवार की सुबह वह अपने पड़ोसी कानोंदा निवासी रमेश के साथ घर से सैर करने के लिए निकला था। जब वे लाइनपार में ही ड्रेन की पटरी से गुजर रहे थे तो इसी दौरान कुछ हमलावर युवक आए और आते ही उन्होंने उन पर गोली चला दी। रमेश के सिर में गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दिल्ली पुलिस कर्मी मनोज के पेट के पास गोली लगी। वह जान बचाने के लिए मौके से भागा भी। बताया गया है कि बाद में उक्त पुलिस कर्मी ने अपने एक साथी को मदद के लिए बुलाया। वह उसे स्कूटी पर बैठाकर इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहा था तो बीच रास्ते में उसने दम तोड़ दिया।