प्रवासी वर्करों के मूवमेंट से कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका, पुलिस नाकों पर भी इन्हें नहीं रोका जा रहा

जठलाना. जिले में लगातार कोरोना पाॅजिटिव की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। इस बीमारी से ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं क्योंकि प्रशासन की ओर से मूवमेंट कर रहे इन प्रवासियों की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पुलिस थाने व चौकियों के सामने से प्रवासी गुजर रहे हैं लेकिन पुलिस प्रशासन की ओर से इन्हें रोका नहीं जा रहा। यह प्रवासी बाजार के बीच से होकर निकल रहे हैं। वहीं रास्ते में पड़ने वाली दुकानों से यह जरूरत का सामना खरीद रहे हैं। अगर मूवमेंट कर रहे इन प्रवासियों में से कोई कोरोना संक्रमित हुआ तो जिला में कोरोना के पॉजिटिव केसों में बढ़ोतरी की आशंका है।

पंजाब व जिले के कारखानों में कार्य करने वाले प्रवासी लगातार मूवमेंट कर रहे हैं। अपने साथियों के साथ मूवमेंट कर रहे प्रवासी मुन्नी लाल ने बताया कि उसके साथ करीब 10-12 साथी और हैं। कुछ पंजाब व कुछ खजूरी रोड के पास स्थित प्लाईवुड में कार्य करते थे लेकिन लॉकडाउन की वजह से सभी बंद हैं।

मालिक की ओर से भी उन्हें राशन खाने के लिए नहीं दिया गया। मेहनत कर जो पैसे जोड़े थे, वह खर्च हो गए। अब अपने घर बिहार जा रहे हैं। बसें व ट्रेनें बंद हैं। पैदल इतनी लंबी दूरी तय करना कठिन है इसलिए पहले सभी ने पुरानी साइकिलें खरीदी। किसी ने 400 तो किसी ने 500 रुपए की। बॉर्डर पर पुलिस का नाका लगा है। पुलिस वहां से जाने नहीं देती इसलिए नाव की मदद से यमुना नदी क्रॉस करेंगे।