डिस्ट्रेस टोकन के लिए बीएलओ की रिपोर्ट को वॉलंटियर्स की टीम करेगी क्राॅस चेक, फिर मिलेगा पात्रों को लाभ

कुरुक्षेत्र. (सुखबीर सैनी) कोरोना वायरस के दौरान शहर में रह रहे आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग जिन्हें किसी भी सरकारी योजना के तहत राशन या आर्थिक मदद नहीं मिलती ऐसे लोगों के लिए शहर के सभी 31 वार्डों में करवाए जा रहे सर्वे में बीएलओ द्वारा दी गई रिपोर्ट की क्राॅस चेकिंग भी होगी। इसके लिए एडीसी ऑफिस की ओर से प्रत्येक वार्ड में पांच से छह वॉलंटियर्स बीएलओ द्वारा दी गई रिपोर्ट को लेकर घर-घर पहुंच निरीक्षण करेंगे । इसके बाद जो लोग किसी भी योजना का लाभ नहीं ले रहे होंगे, उन्हें खाद्य आपूर्ति विभाग की ओर से निशुल्क राशन डिपो के माध्यम से मुहैया करवाया जाएगा। नगर परिषद ईओ बीएन भारती ने बताया कि एडीसी ऑफिस की ओर से यह सर्वे करवाया जा रहा है। थानेसर में अभी तक बीएलओ 3200 लोगों का सर्व कर चुके हैं । इसमें से 690 लोगों की सिफारिश बीएलओ कमेटी ने जिन्हें किसी योजना का लाभ नहीं मिल रहा और आर्थिक तौर पर भी कमजोर हैं। हालांकि अभी भी सर्वे जारी है। जितना सर्वे हो चुका है, उनकी क्रास चेकिंग वालेंटियर्स की टीम करेगी ।
बीएलओ पहुंच जुटा रहे आंकड़े

नगर परिषद कर्मचारी प्रियंक बजाज ने बताया कि महीनेभर से शहर के हर वार्ड में बूथ स्तर पर बीएलओ घर-घर पहुंच आंकड़ा जुटा रहे हैं । बीएलओ अपनी आईडी खोलकर प्रत्येक परिवार के मुखिया की ऑनलाइन आईडी तैयार करता है, आधार कार्ड, परिवार के कितने सदस्य, क्या-क्या काम करते हैं। उनकी वार्षिक आय कितनी बनती है। राशन कार्ड कौन से कैटगिरी का है, पका हुआ खाना चाहिए या सूखा राशन या कोई आर्थिक मदद चाहिए। इस सबकी जानकारी दिए गए कॉलम में भर रहे हैं। पूरी जानकारी जिला प्रशासन द्वारा तैयार किए गए कोविड-19 डिस्ट्रिक्ट लेवल कमेटी नाम के पोर्टल पर अपलोड की जा रही है।

पोर्टल पर डालते ही स्थिति होगी स्पष्ट
एनआईसी के इंचार्ज विनोद सिंगला ने बताया कि जैसे ही किसी भी व्यक्ति का आधार कार्ड ट्रैक पीडीएस नाम के सॉफ्टवेयर पर डाला जाएगा, तुरंत उसका बारे में पूरी सूचना सामने आ जाएगी कि इस व्यक्ति का राशन कार्ड कौन सा है, वह पहले किसी योजना के तहत कोई सरकारी सहायता तो नहीं ले रहा। खाद्य-आपूर्ति विभाग से बलदेव शर्मा ने बताया सर्वे के बाद जो भी पात्र मिलेंगे, उनकी सूची खाद्य- आपूर्ति विभाग के पास आएगी। विभाग सूची अनुसार पात्र व्यक्ति के नजदीकी डिपो के हिसाब से मैपिंग करेगा। साथ ही ऑनलाइन ही एक टोकन जनरेट होगा। जिसे उक्त व्यक्ति के मोबाइल नंबर पर एसएमएस से भेजा जाएगा। साथ ही संबंधित डिपो को भी सूचित किया जाएगा। जिससे उन पात्रों को तीन माह तक प्रति सदस्य पांच किलो गेहूं व एक किलो दाल भी दी जाएगी ।