अब नागल पत्ती गांव में दिखा लैपर्ड

  • फार्म हाउस पर झाड़ियाें में छिपा लैपर्ड, भीड़ काबू करने को पुलिस बुलानी पड़ी
  • एक माह के अंदर एरिया में तीसरी बार दिखा लैपर्ड

खिजराबाद. प्रताप नगर के खेतों में सक्रिय लैपर्ड (तेंदुआ)एक महीने के अंतराल में तीसरी बार फिर खेतों में घूमता दिखा है। लैपर्ड नागल पत्ती गांव के समीप एक कुत्ते को मार कर खाते देखा गया। जिससे ग्रामीण दहशत में हैं। इसके बाद लैपर्ड झाड़ियों में छिप गया। छिपे बैठे लैपर्ड पर विभागीय अधिकारी नजर बनाए हुए हैं। ग्रामीणों की भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस तैनात की गई है।
खेतों की ओर जा रहे मेहंदी हसन, कुर्बान, हारून, कामिल आदि ने लैपर्ड को देखते ही शोर मचाया। ग्रामीणों ने तुरंत इसकी सूचना वन्य प्राणी विभाग कलेसर को दी। विभाग की टीम ट्रेंकुलाइजर गन व अन्य सामान लेकर मौके पर पहुंची। ग्रामीणों की भीड़ को देख जिला वन्य प्राणी इंस्पेक्टर सुनील कुमार को पुलिस बुलानी पड़ी। कुत्ते को मारकर खाने के बाद लैपर्ड गांव के नजदीक एक फार्म हाउस पर झाड़ियों में छिपा है। जानवर का आबादी की ओर से तीनों ओर से घेरा डाला गया है।
इंस्पेक्टर सुनील कुमार ने बताया कि गत 29 अप्रैल को खिजराबाद के खेतों में लैपर्ड ने एक ग्रामीण पर हमला कर घायल कर दिया था। उसके बाद जानवर 15 अप्रैल को खिजरी गांव के गेहूं के खेत में छिपा दिखा। जिसका घेरा डाल लिया गया और देर शाम वह जंगल की ओर खिसक गया। 20 दिन बाद अब लैपर्ड को नागल पत्ती गांव के खेतों में देखा गया है। सुनील कुमार ने बताया कि आबादी की ओर खड़े होकर लैपर्ड का जंगल की ओर जाने का इंतजार कर रहे हैं।