लॉकडाउन 1.0 में एक पॉजिटिव मिला, 2.0 में 4, अब 3.0 में सब्र से करना होगा काम, तभी मिल पाएगा छूट का लाभ

फतेहाबाद. (संजय आहूजा) लॉकडाउन 3.0 के तहत सरकार के बाद अब जिला प्रशासन की ओर से जिले में सशर्त व रोस्टर के आधार पर बाजार खोलने की छूट दे दी है, लेकिन इस छूट को लेकर जिलावासियों को पूरे संभल कर चलना होगा। पिछले 43 दिनों के लॉकडाउन के बावजूद जिले में पांच कोरोना पॉजिटिव केस मिले, जिसमें से एक केस बाद में निगेटिव आ गया। अब जब छूट मिली है, इसमें जरा सी भी लापरवाही बरती गई तो हालात खराब होने में देर नहीं लगेगी।
नियमों का पालन करना होगा तो ही बचे रहेंगे : लॉकडाउन 3.0 के दौरान जिलावासियों को भीड़ करने से खासतौर से बचना होगा। चूंकि बाजार खुलने से तरह-तरह के लोग एक दूसरे के संपर्क में आएंगे, जिससे संक्रमण का खतरा बना रहेगा। ऐसे में दुकानदारों व ग्राहकों को पूरी समझदारी से काम लेना होगा। भीड़, समूहों में बैठने से बचना होगा। मास्क व सेनिटाइजेशन का खास ध्यान देना होगा। अब देखना है कि मंगलवार को बाजार खुलने के बाद लोग इस स्थिति से कैसे निपटते हैं।
दैनिक भास्कर प्रतिनिधि ने सोमवार को शहर की सड़कों पर दिन में कई बार चक्कर लगाए तो देखने को आया कि बाजार खुलने से पहले ही लोग सोशल डिस्टेंस जैसे नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। जोकि आगे के लिए नुकसान दे सकते हैं।

सुबह 9:30 बजे: शेड्यूल जारी न होने से नहीं खुली दुकानें

पिछले 43 दिन से घरों में कैद लोग अपनी दुकानों को खोलने को लेकर सोमवार को आतुर दिखे, लेकिन जिला प्रशासन की ओर से कोई शेड्यूल जारी न करने के चलते खोल नहीं पाए। इसके बावजूद शहर में सुबह से ही चहलकदमी बढ़ी। वाहनों की आवाजाही भी काफी रही। जिससे यूं लग रहा था कि कहीं छूट का लोग गलत प्रयोग न करें। जिससे बाद में नुकसान उठाना पड़े।

दोपहर 2 बजे: कई जगह ग्रुप बना खड़े दिखे लोग

लॉकडाउन के दौरान लोग पहले दोपहर 12 बजे तक ही सड़कों पर दिखाई देते थे। उसके बाद आवाजाही कम होती थी, लेकिन सोमवार को पूरा दिन ही सड़कों पर लोगों की आवाजाही काफी रही। लोग जगह-जगह ग्रुप बनाकर खड़े थे। दोपहर ढाई बजे तक भी बाजार में काफी वाहनों व लोगों का आवागमन जारी था।

पहला लॉकडाउन : 4376 लोग बाहर से आए, 1 युवक कोरोना पॉजिटिव मिला

पहले लॉकडाउन के दौरान 20 मार्च से 14 अप्रैल शाम तक जिले में 4 हजार 376 लोग जिले में आए। तब तक 253 लोगों के सैंपल लिए गए थे। इस बीच 6 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव केस मिला। पहले लॉकडाउन का पीरियड खत्म होने तक इस युवक की 2 रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी थी। तब तक जिला ऑरेंज जोन में था, लेकिन पहला लॉकडाउन खत्म होने से पहले ग्रीन में आ चुका था।

दूसरा लॉकडाउन : रतिया में नांदेड़ साहिब से आए 4 लोग पॉजिटिव मिले

दूसरे लॉकडाउन पीरियड यानिकी 15 अप्रैल से 3 मई शाम तक जिले में कुल 2 हजार 956 लोग जिले में आए। अब तक जिले में 7 हजार 332 लोग जिले में आए हैं। 3 मई शाम तक की बात करें तो तब तक 1435 लोगों के सैंपल लिए गए, जिसमें एक हजार 81 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। इस दौरान नांदेड़ से आए लोगों में से 4 कोरोना पॉजिटिव मिले। इस दौरान फतेहाबाद ग्रीन जोन से एक ही दिन में जिला ऑरेंज जोन में आ गया। जिससे यहां की परिस्थितियां बदल गई। जो छूट ग्रीन जोन के हिसाब से मिलनी थी, उससे हम वंचित रह गए।