मंडी में तीसरे दिन भी शुरू नहीं हो पाई गेहूं की खरीद

  • जिले में अभी तक 85,071 मीट्रिक टन गेहूं और 81,352 मीट्रिक टन सरसों की हो चुकी खरीद

भिवानी. मौसम की खराबी के कारण भिवानी अनाज मंडी में सोमवार को तीसरे दिन भी गेहूं की सरकारी खरीद नहीं हो पाई है। अगले तीन दिन ओर मौसम खराब रहने की आशंका है। पर्याप्त उठान न होने से किसानों को मंडी में गेहूं व सरसों डालने के लिए जगह नहीं मिल रही है। मंडी में अभी भी लगभग डेढ़ लाख बैग गेहूं व सरसों से भरे हुए रखे है। इससे आशंका हैं कि मंडी में अगले तीन दिन ओर गेहूं की खरीद बाधित रह सकती है।
मजदूरों की कमी के कारण 15 अप्रैल से सरसों व 20 अप्रैल से गेहूं की सरकारी खरीद शुरू होने से ही उठान की प्रक्रिया बेहद धीमी चल रही हैं। इससे दोनों मंडियों गेहूं व सरसों से अट गई थी और किसानों को अनाज डालने के लिए भी जगह नहीं मिल रही थी। इसके चलते शनिवार से मंडी में गेहूं की खरीद को बंद कर दिया गया था ताकि उठान में तेजी लाइन जा सके। इसके चलते रविवार को भी गेहूं की खरीद नहीं हुई थी लेकिन रविवार को बारिश के कारण मंडी में रखे लगभग एक लाख बैग पानी में भीग गए थे। इससे उठान प्रक्रिया भी बाधित हो गई थी। गेहूं व सरसों से भरे जो बैग बारिश में भीग गए थे उनका उठान नहीं हो रहा हैं। ऐसे में सोमवार को भी गेहूं की खरीद शुरू नहीं पाई।

दो दिन में 50 हजार बैग का हुआ उठान

भिवानी अनाज मंडी में दो दिन में लगभग 50 हजार गेहूं से भरे बैगों का उठान हुआ है। इसके बावजूद मंडी में अभी भी एक लाख बैग रखे हुए है। मौसम अगले तीन दिन खराब रहने की आशंका है लेकिन भिवानी मंडी में अभी भी 50 हजार से ज्यादा बैग खुले आसमान के नीचे रखे हुए हैं। अगर बारिश आती है और बैगों को रविवार की तरह नहीं ढापा गया तो यह बैग दोबारा से बारिश में भीग सकते हैं। इससे गेहूं खराब होने की आशंका ओर बढ़ जाएगी। जिले में निर्धारित अनाज मंडी व परचेज सेंटर पर अभी तक 85 हजार 71 मीट्रिक टन गेहूं व 81 हजार 352 मीट्रिक टन सरसों की खरीद हो चुकी है।

एसडीएम ने लिया उठान का जायजा
तोशाम एसडीएम संदीप कुमार ने कस्बा तोशाम स्थित अनाज मंडी एवं गांव पटौदी व ईशरवाल ने बनाए गए खरीद केंद्रों का निरीक्षण कर खरीद प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। एसडीएम ने बताया कि अनाज मंडी, गांव पटौदी एवं ईशरवाल में उठान का कार्य सुचारू ढंग से चल रहा है। उन्होंने बताया कि सभी खरीद केंद्रों पर कोविड-19 के दृष्टिगत सोशल डिस्टेंस बनाए रखने एवं सैनिटाइजर की समुचित व्यवस्था करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत राज्य सरकार ने किसानों के उत्पादों को उनके घर द्वार पर ही खरीदने के उद्देश्य से ग्रामीण क्षेत्रों में भी खरीद केंद्र स्थापित किए हैं । इन केंद्रों पर सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं 1925 रुपए प्रति क्विंटल तथा सरसों 4425 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से खरीदी जा रही है। एसडीएम संदीप कुमार ने बताया कि बारिश के कारण जो गेहूं भीग गई है उसको सुखाकर पैक किया जाए।
ये कहना है परचेजर का

भिवानी अनाज मंडी स्थित गेहूं परचेजर मुकेश कुमार ने बताया कि मौसम खराब होने के कारण सोमवार को भी गेहूं की खरीद नहीं हुई। उन्होंने बताया कि अगले कुछ दिन ओर मौसम खराब रहने की आशंका है इसके चलते गेहूं की खरीद भी प्रभावित रहने की आशंका है। बरसात का मौसम होने के कारण किसान भी मंडी में गेहूं लाने से हिचक रहा हैं। उन्होंने बताया कि मंडी में उठान प्रक्रिया में दो दिन में तेजी आई है। दो दिन में मंडी में 50 हजार गेहूं से भरे बैगों का उठान हुआ है। अगले दो दिन में 50 हजार बैग का उठान हो जाएगा।