बुलेट से पटाखे बजाने व पुलिस कर्मी के सामने बाइक न रोकने के आरोप नकारे

  • बाइक मालिक ने कहा- रंजिश निकालना चाहता है एक पुलिस कर्मचारी

भिवानी. विद्यानगर निवासी व बाइक मालिक सुरेश गोयत ने कहा कि पुलिस ने उनपर तीन दिन पहले सेक्टर-13 मार्केट में बुलेट बाइक से पटाखे बजाने व बाइक न रोकने के जो आरोप लगाए हैं वे गलत हैं। एक पुलिस कर्मचारी उनके परिवार के साथ रंजिश रखे हुए हैं, जिसके चलते गलत आरोप
लगाए जा रहे हैं। सुरेश गोयत ने बताया कि तीन दिन पहले सेक्टर 13 पुलिस चौकी से एक पुलिस अधिकारी की उसके पास फोन कॉल आई की तुम्हारी बाइक पर दो युवक बाइक तेज आवाज निकाल कर लोगों को परेशान कर रहे थे। इसलिए चौकी में आओ। उसने कहा कि उनसे या परिवार के किसी सदस्य से ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

मार्केट में बाइक से तेज आवाज करने पर होगी कार्रवाई
सेक्टर-13 पुलिस चौकी प्रभारी ने बाइक पर दो युवक थे जो बाइक से तेज आवाज कर रहे थे। इसी दौरान पुलिस राइडरों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने बाइक नहीं रोकी। बाइक का नंबर लेकर जांच की तो बाइक मालिक का पता चला था। बाइक चलाने वाले युवक के पिता को फोन कर चेतावनी दी थी कि आगे से मार्केट में ऐसा नहीं होना चाहिए। अगर आगे से मार्केट में बाइक से तेज आवाज निकाली तो कार्रवाई की जाएगी।

ये है रंजिश

सुरेश गोयत ने बताया कि 11 नवंबर 2019 को उसका बेटा अपनी बुलेट बाइक पर शिक्षा बोर्ड क्षेत्र में एक शादी में गया था। लौटते वक्त एक रिट्ज गाड़ी ने छह किलोमीटर तक उसका पीछा किया। गाड़ी में छह लोग सवार थे। कमला भवन के पास बाइक में कार से टक्कर मारने का प्रयास किया था, लेकिन उसका बेटा बच गया। इसके बाद पीछा करते हुए पुराना हाउसिंग बोर्ड में पहुंच गए और बाइक में टक्कर मारी। इससे उसके बेटे के पैर पर गहरी चोटें आई और बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई। आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए इसके बाद आरोपी फरार हो गए। गाड़ी की पहचान से पता चला कि गाड़ी में एक पुलिस कर्मचारी था। इस संबंध में पुलिस के उच्चाधिकारियों के साथ समझौते के लिए भी उन्हें पुलिस थाना में बुलाया गया था, लेकिन आरोपी पुलिस कर्मचारी ने अपनी गलती नहीं मानी। उसी रंजिश के चलते पुलिस कर्मचारी उनसे रंजिश रखे हुए हैं और उन्हें झूठे मामले में फंसाना चाहता है।