डबवाली में बारिश और अंधड़ से गिरे पेड़ पोल, बिजली ठप तो मंडियों में भीगा गेहूं

दैनिक भास्कर

May 04, 2020, 06:51 AM IST

डबवाली. उपमंडल में रविवार को दिनभर मौसम बिगड़ता रहा और शाम को आंधी के साथ बारिश हुई। जिससे सभी रास्तों और खेतों में काफी पेड़ व बिजली पोल टूट गए। जिससे सभी बिजली घरों की सप्लाई ठप हो गई और मंडियों में पड़ी गेहूं भी भीग गई। बिजली निगम कर्मचारियों ने प्राथमिकता से 1 घंटे में अस्पताल की हॉट लाइन और शहर की आधी सप्लाई शुरू कर दी और देर रात तक बिजली सप्लाई सुचारु करने के लिए जुटे रहे।
रविवार को सुबह से मौसम बिगड़ा देखकर किसानों ने अपनी गेहूं की ढेरियों और मंडियों में पड़ी बोरियों को सुरक्षित करने के इंतजाम किए। शाम 4 बजे वेस्टर्न डिस्टरबेंस के चलते घनी आंधी शुरू होने के साथ ही अंधेरा छा गया और तेज बारिश से जगह-जगह पेड़ और बिजली पोल गिर जाने से उप मंडल के सभी बिजली घरों की सप्लाई ठप हो गई। एक घंटे तक हुई बारिश में ग्रामीण एरिया में लगभग 12 एमएम जबकि शहरी क्षेत्र में 8 एमएम के आसपास पानी बरसा लेकिन हवा तेज होने और बारिश साथ होने से काफी नुकसान हो गया है। ग्रामीण मंडियों में कई जगह स्कूल और खेल मैदान की निचली जगह पर मंडी बनी होने से बोरियों ढेरियों में पानी भर गया। इसी प्रकार जोहड़ के आसपास बने खरीद केंद्रों में भी जलभराव से काफी गेहूं भीगने से नुकसान हो गया है। इससे किसानों और आढ़तियों ने सरकार की बद इंतजाम के खिलाफ रोष जाहिर किया।
अनाज मंडी में शेड के नीचे भी भीगा गेहूं, ग्रामीण मंडी में जलभराव
मार्केटिंग बोर्ड की ओर से व्यवस्थाओं में खामी की स्थिति ऐसी है कि ग्रामीण एरिया में खुली मंडियों में गेहूं उठान और तुलाई समय पर नहीं होने से गेहूं भी गया। वहीं निचले एरिया में मंडी बनी होने से जलभराव हो चुका है। इतना ही नहीं शहर की अनाज मंडी में शेड के नीचे लगी गेहूं की बोरियां भी सैड टूटा होने से पानी आने से बोरियां भीग गई है। सैड के चारों ओर जलभराव हो जाने से काफी नुकसान हुआ है। दुकानों के आगे भी तिरपाल उड़ जाने से गेहूं नमी युक्त हो चुका है। इसके चलते मार्केटिंग बोर्ड की ओर से सोमवार को गेहूं खरीद लिस्ट जारी नहीं की गई ताकि किसान मंडी में फसल में लाए और पहले भीगी हुई फसल को सुरक्षित किया जा सके हालांकि सरसों खरीद सुचारू रहेगी।