घर जाने की मांग कर सड़क पर उतरे सैकड़ों मजदूर, 2 पुलिस वालों को पीटा, फिर पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

  • यमुनानगर के जोडिया इंडस्ट्री एरिया की घटना
  • मजदूरों ने पथराव कर पुलिस की पीसीआर भी क्षतिग्रस्त की

दैनिक भास्कर

May 04, 2020, 04:55 PM IST

यमुनानगर. यमुनानगर में घर जाने की मांग करते हुए सैकड़ों की संख्या में मजदूर जोडिया इंडस्ट्री एरिया में बाहर निकल आए। उन्होंने एसके रोड जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे दो पुलिस राइडर पर पथराव कर दिया। दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। उनकी बाइक तोड़ दी। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने मजदूरों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।

रोड को जाम करके प्रदर्शन करते हुए मजदूर। पुलिस ने पहले उन्हें समझाने का प्रयास किया, जब नहीं माने तो किया लाठीचार्ज।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक जोडिया इंडस्ट्री एरिया में अभी भी बहुत संख्या में मजदूर रूके हुए हैं जो लॉकडाउन में अपने घर नहीं जा सके। सोमवार को वे सैकड़ों की संख्या में बाहर आ गए और रोड जाम कर प्रदर्शन करने लगे। घटना सुबह 9.30 बजे की है। जाम लगने पर दो पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे।

उन्होंने जब उनसे बात की तो मजदूरों ने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। उन पर पथराव किया गया। इस दौरान एक ट्रक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया और पुलिसकर्मियों की बाइक तोड़ दी। प्रवासियों के भड़कने की सूचना मिलते ही पुलिस बल को मौके पर भेजा गया। कई थानों की पुलिस वहां पर पहुंची।

डीएसपी प्रदीप राणा ने प्रवासियों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। इसके बाद पुलिस ने पथराव कर रहे प्रवासियों पर लाठीचार्ज कर दिया और वहां से खदेड़ दिया। इस दौरान पुलिस के साथ प्रवासियों की झड़प भी हुई। कई प्रवासियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। लाठी चार्ज में उन्हें भी चोट लगी है।

हंगामा करने वाले प्रवासियों की संख्या करीब 200 थी। इनकी मांग थी कि वे अपने घर जाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें वहां पर ले जाने का सरकार और प्रशासन ने कोई इंतजाम नहीं किया। इसी लिए उन्हें सड़क पर उतराना पड़ा। उधर, फर्कपुर थाना प्रभारी मुकेश कुमार ने बताया कि दो पुलिस कर्मियों को चोट लगी है। जाम लगाने और पुलिस पर पत्थराव करने वालों पर केस दर्ज किया जाएगा।