केसरी के पास कपड़ा मिल में आग से 8 लाख मीटर कपड़ा जलने का अनुमान

  • 15 फीट तक ऊंची उठी लपटें, 9 घंटे में काबू पाया

साहा. साहा-शाहबाद हाईवे पर गांव केसरी के पास कपड़ा मिल प्रताप फैब्रिक्स प्राइवेट लिमिटेड में रविवार रात आग लग गई। आग इतनी विकराल थी 15 फुट ऊंचे तक लपटें उठती दिखीं। फायर ब्रिगेड की 22 गाड़ियों ने 9 घंटे में आग पर काबू पाया। आग लगने की सूचना रविवार रात 9.45 बजे जीएम शाम लाल को फैक्टरी में मौजूद सिक्योरिटी गार्ड ने दी थी।
शाम लाल प्लांट के अंदर भागे, लेकिन देखते ही देखते आग काबू से बाहर हो गई। फायर ब्रिगेड जब तक मौके पर पहुंची आग की लपटें 15 फुट ऊंची उठनी शुरु हो गई थी। इसके बाद एक के बाद एक फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर आकर आग बुझाने की कोशिश करती रहीं। मगर सोमवार सुबह 8.30 बजे ही आग पर काबू पाया जा सका। हालांकि दोपहर के 2 बजे तक भी प्लांट के अंदर कहीं कहीं हल्की लपटें निकल रही थी।
प्रताप फैब्रिक के जीएम शाम लाल ने बताया कि रात को उनके साथ मौजूद सिक्योरिटी गार्ड व इलेक्ट्रिशियन कुछ कर पाते तब तक आग फैलनी शुरू हो गई थी। उन्होंने तुरंत फैक्टरी मालिकों को सूचना दी व फायर ब्रिगेड को बुलाया। एक घंटे में आग पूरे शेड में फैल गई। मिल मालिकों के अनुसार आग से करीब 8 लाख मीटर कपड़ा जलने का अनुमान है। फैक्टरी में जींस का कपड़ा बनता था। इसमें लगभग 600 लोग काम करते हैं। अभी लॉकडाउन के चलते फैक्टरी बंद पड़ी थी। फैक्टरी के जिस शेड में आग लगी वहां 11 मशीनें थी, जो कपड़े को फिनिशिंग देती थी। इसके बाद ये तैयार कपड़ा पैक होकर बिकने को चला जाता है। इस शेड के नजदीक ही दूसरा शेड भी है, जिसमें कपड़ा बुनने की मशीनें व बड़ी मात्रा में कपड़े के अनफिनिश्ड बंडल पड़े थे। अगर समय रहते आग पर काबू न पाया जाता तो नुकसान दोगुना हो सकता था।