आंधी-तूफान से 97 पोल टूटे, 12 गांवों में बिजली गुल

भिवानी. रविवार देर सायं आंधी व तेज तूफान से बिजली निगम के 97 पोल टूट गए हैं, जिसके कारण करीबन एक दर्जन गांवों में बिजली बाधित रही। वहीं कुछ इलाके की खेतों की बिजली भी बाधित रही। बिजली निगम के एसडीओ होशियार सिंह ने बताया कि रविवार को आई तेज आंधी से उनके विभाग के करीबन 97 बिजली के खंभे टूट गए हैं। जिसके कारण गांव बादलवाला, बिडौला, छपार रांगड़ान, छपार जोगियान, छपार बास, मनसरबास व शिमलीबास गांव की बिजली बाधित रही। एसडीओ ने बताया कि आंधी के कारण एक बार तो पूरी बिजली सप्लाई ही ठप हो गई थी। जिसमें से कुछ एरिया की तो उसी समय ठीक कर चालू कर दी थी। कुछ एरिया की सोमवार को दिन में बिजली सप्लाई चालू कर दी है। जो बची हुई है उन गांव में कर्मचारी बिजली सप्लाई को सुचारू करने में लगे हुए हैं। कुछ खेतों में भी बिजली सप्लाई बाधित है जो कि एक-दो दिन बाद चालू हो पाएगी।

बवानीखेड़ा में कई खंभे व पेड़ गिरे, 19 घंटे बाद हुए बिजली के दर्शन

रविवार को कस्बा में आए आंधी तूफान से कई वृक्ष सहित बिजली के पोल गिर गए। गांव मिलकपुर में बिजली का पोल गिरने के कारण रविवार शाम 7 बजे बिजली चली गई और सोमवार साढ़े बारह बजे तक बिजली के दर्शन नहीं हुए। बिजली का पोल पानी में गिरने के कारण बिजली आपूर्ति बाधित हुई। वहीं सोमवार को उपमंडल अभियंता सोहेल अहमद, कनिष्ठ अभियंता पवन कुमार, विजेंद्र सिंह, नरेश कुमार सहित अन्य कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लेते हुए जेसीबी व अन्य उपकरणों से गिरे हुए एक दर्जन लोगों ने पोल को खड़ा किया।

इस बारे निगम के उपमंडल अभियंता सोहेल अहमद ने बताया कि रात्रि के कारण पोल पानी में गिरने से काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा। कर्मचारियों व ग्रामीणों की मदद से इसे दोबारा लगाकर बिजली शुरू करवाई गई।