बारिश में भीगा अनाज, लेबर कम होने से तेजी नहीं पकड़ पाया लिफ्टिंग कार्य

  • 20 अनलोडिंग प्वाइंट कम होने से उठाने व उतारने का कार्य धीमा चल रहा

चरखी. नई अनाज मंडी में पड़ा हजारों मीट्रिक टन गेहूं व सरसों बारिश में भीग गया है। क्योंकि लेबर नहीं होने के कारण भराई व उतरवाई का कार्य धीमा चल रहा है। ज्यादातर गेहूं व सरसों खुले आसमान के नीचे ही पड़ा हुआ है। ऐसे में रविवार सुबह 6 बजे हुई बारिश से दादरी सहित बौंद कलां, बाढड़ा व झाेझू कलां के नीचे आने वाले 15 खरीद केंद्रों पर अनाज भीग गया। जबकि आढ़तियों व खरीद एजेंसी को अनाज ढंकने का प्रबंध करती हैं।
जिले में गेहूं व सरसों खरीद के लिए 15 सरकारी खरीद केंद्र बनाए हुए थे। जिन पर रविवार तक गेहूं 30 हजार 891 मीट्रिक टन और सरसों 38 हजार 861 मीट्रिक टन खरीदी गई है। जबकि इसमें से ज्यादातर अनाज खुले आसमान के नीचे पड़ा हुआ है। रविवार सुबह करीब साढ़े 5 बजे बारिश शुरू हो गई। जो सुबह 6 बजे तक चलती रही। ऐसे में जिले के सभी 15 खरीद केंद्रों पर पड़ा अनाज भीग गया।

30 की जगह मात्र 10 प्वाइंट पर हो रही अनलोडिंग

सरसों व गेहूं के लिए सरकारी भंडारण गांव घसौला, गांव कोहलावास और शहर के एमसी कॉलोनी स्थित सीडब्लूसी केंद्र में बनाया गया है। सभी जगह 10-10 अनलोडिंग प्वाइंट होने चाहिए। मगर लेबर की कमी के कारण 10 प्वाइंट ही बने हुए हैं। इनमें 3 प्वाइंट घसौला, 4 प्वाइंट कोहलावास और 3 प्वाइंट सीडब्लूसी एमसी कॉलोनी में बनाए गए हैं। ऐसे में 20 प्वाइंट कम होने से उठाने व उतारने का कार्य धीमा चल रहा है।

3 हजार की जगह मात्र चार सौ लेबर से चला रहे काम

तीनों गोदामों पर करीब 3 हजार मजदूर होने चाहिए। यानि एक गोदाम पर 1 हजार लेबर होनी चाहिए। जो अपने हिस्से की 10 लोडिंग पर सो सो मजदूर रखे जाने चाहिए। मगर फिलहाल तीनों गोदामों पर मात्र 400 लेबर हैं। ऐसे में तीनों गोदामों पर सरकारी खरीद एजेंसियों के पास करीब 26 सौ लेबर की कमी है।

अनाज मंडी में ढंकने के लिए नहीं तिरपाल

किसान अपनी सरसों व गेहूं तुलवाने के बाद आढ़तियों के पास डालकर चले जाते हैं। इसके बाद सरकारी खरीद एजेंसी आढ़तियों के पास से अनाज खरीद लेती हैं। इसके बाद अनाज की देखरेख करने का जिम्मा खरीद एजेंसी का हो जाता है। लेकिन खुले आसमान के नीचे पड़ा अनाज बारिश में भीगता रहा और उसे ढंकने तक का प्रबंध नहीं हो पाया।

लेबर मंगाई गई है तेजी से होगा लिफ्टिंग कार्य: राजेश

सरकारी खरीद मैनेजर राजेश कुमार ने बताया कि अब तक लेबर कम थी इसलिए लिफ्टिंग कार्य तेजी नहीं पकड़ पाया था। हमने लेबर मंगा ली है जिससे अब सुचारू रूप से लिफ्टिंग कार्य चलेगा। थोड़ा बहुत अनाज बारिश में भीगा है जो दो दिन में ही सूख जाएगा।