दुष्यंत चौटाला का राहुल गांधी पर तंज, कृषि का क नहीं पता, चले हैं किसानों को बरगलाने

दुष्यंत चौटाला का राहुल गांधी पर तंज, कृषि का क नहीं पता, चले हैं किसानों को बरगलाने हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पंजाब और हरियाणा के दौरे पर आ रहे राहुल गांधी को केंद्र सरकार की ओर से लाए गए तीन कृषि से जुड़े कानूनों के बारे में पूरी जानकारी नहीं है. कृषि कानूनों को लेकर फैलाया जा रहा भ्रमः दुष्यंत 'किसानों को नहीं आने दी जाएगी किसी तरह की परेशानी' 'किसानों के हर सवाल का जवाब देने को सरकार तैयार' 'सभी गांवों में एक्टिव किए जाएंगे महिला स्वयं सहायता समूह' हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कृषि से जुड़े कानूनों का विरोध करने पर राहुल गांधी पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को कृषि शब्द के पहले अक्षर क के बारे में भी ज्ञान नहीं है और वो किसानों को बरगलाने चले हैं. उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पंजाब और हरियाणा के दौरे पर आ रहे राहुल गांधी को केंद्र सरकार की ओर से लाए गए तीन कृषि से जुड़े कानूनों के बारे में पूरी जानकारी नहीं है. चार दिन से पूरे राज्य में नॉन एमसीपी की धान की किस्म 1509 आज 2100 रुपये प्रति क्विंटल बिक रही है, जबकि कॉटन भी अच्छे दाम पर बिक रहा है. दुष्यंत चौटाला ने रविवार को सिरसा स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि विपक्ष की ओर से इस मसले पर राजनीति की जा रही है. वह किसानों से जुड़े हर सवाल का जवाब देने को तैयार हैं. 'हर सवाल का जवाब देने को तैयार' 6 अक्टूबर को किसानों की ओर से उनके आवास को घेरने संबंधी प्रश्न पर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि किसानों के लिए उनके दरवाजे हर समय खुले हैं. वे स्वयं किसान हैं और वे किसानों के हर सवाल का जवाब देने को तैयार हैं. उन्होंने यह भी कहा कि आगामी रबी सीजन की गेहूं की फसल पर केंद्र सरकार ने 50 रुपये प्रति क्विंटल का बोनस देकर यह जाहिर कर दिया है कि किसानों की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी. महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश और केरल की तर्ज पर हरियाणा में भी महिलाओं का सशक्तिकरण किया जाएगा. सभी गांवों में महिला स्वयं सहायता समूह बनाए जाएंगे. हिसार में महिला स्वयं सहायता समूह की पहल कामयाब रही और महिलाओं ने अनेक तरह के उत्पाद बनाकर आर्थिक स्वावलम्बन की ओर कदम बढ़ाए. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि न केवल ग्रामीण महिलाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे बल्कि इसके साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी उनकी प्रतिभाओं को नई पहचान और उड़ान दिलवाई जाएगी. इसके लिए सेल्फ हेल्प ग्रुप से जुड़ी महिलाओं को प्रदेश में लगने वाले अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेले के माध्यम से अपना हुनर दिखाने का सुनहरा अवसर मिलेगा. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार का प्रयास है कि शहरों के साथ-साथ गांवों में भी महिलाओं के लिए रोजगार के नए अवसर उपलब्ध हों, ताकि महिलाओं की आमदनी बढ़े. इसके लिए उन्होंने प्रदेशभर के गांवों में जहां सेल्फ हेल्प ग्रुप (स्वयं सहायता समूह) का गठन हो चुका है. उन्हें एक्टिव करने तथा जिन-जिन गांवों में अभी सेल्फ हेल्प ग्रुप का गठन नहीं हुआ है वहां जल्द स्वयं सहायता समूह बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं. 'उपचुनाव को लेकर जल्द होगा निर्णय' स्वयं सहायता समूह की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि नारनौंद, बरवाला, हिसार-1 में 12 हजार से अधिक महिलाएं स्वयं सहायता समूह के माध्यम जुड़कर मास्क, मसाले, बाजरे के लड्डू, सॉफ्ट टॉय, अचार आदि अन्य उत्पाद तैयार करके अच्छी-खासी कमाई कर रही हैं. बरौंदा उपचुनाव के बारे में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि दोनों ही संगठनों का समन्वय लगातार जारी है. जल्द ही अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा. पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा बरोदा उपचुनाव में सीएम मनोहर लाल को उनके सामने चुनाव लड़ने की चुनौती देने के सवाल पर दुष्यंत ने पलटवार करते हुए कहा कि पहले इस्तीफा तो दे बोलना बहुत आसान है. इशारों ही इशारों में दुष्यंत चौटाला ने अभय चौटाला पर भी निशाना साधते हुए कहा कि सिरसा के लोग बहुत कुछ बोल रहे हैं, उन्हें भी बरोदा उपचुनाव में भेजो. दुष्यंत चौटाला ने यह भी कहा कि सभी 22 जिलों के गांवों में महिला स्वयं सहायता समूह एक्टिव करने के अलावा हरियाणवी कल्चर को बढ़ावा देने का भी काम किया जाएगा.

दुष्यंत चौटाला का राहुल गांधी पर तंज, कृषि का क नहीं पता, चले हैं किसानों को बरगलाने